एक औरत का स्तन : हिंदी कविता

हिंदी कविता : एक औरत का स्तन

Suggested Keyword:-    Poem in hindi, life poetry, laghu kavita on life, best  hindi poem, best hindi kavita, dharti kavita, writing poem, poetry in hindi,  best  poetry in hindi, popular poetry, hindi books, best hindi kavita, books on women love life, nayi kavita, नयी कविता, हिंदी कविता,


'ek aurat ka stan', poem by sabita shah

एक औरत का स्तन....
सिर्फ उसे खूबसूरत नहीं बनाता?
उसे पूर्ण भी करता है!
जब एक बच्चें को जन्म देकर,
अपने स्तन से वो दूध पिलाती है?
तब वो औरत परिपूर्ण होती है!!
औरत के अस्तित्व को,
एक नई पहचान मिलती है।
एक औरत का स्तन...
सिर्फ आकर्षण का केंद्र नहीं है?
उसके औरत होने का प्रमाण भी है!!

कई रूप होते है स्तन के भी....
जब एक नवजात शिशु छूता है?
तो दूध की धार बहती है।
जब पति या प्रेमी छूता है?
तो प्यार का एहसास होता है।
और जब कोई दरिंदा छूता है?
तब खून का बहाव भी होता है!
हम औरतों का स्तन,
हमें खूबसूरत बनाता है!
देखने वाले कि नजर है,
उसे क्या नजर आता है!!

- सबिता शाह

Suggested Keyword:-

Poem in hindi, life poetry, laghu kavita on life, best  hindi poem, best hindi kavita, dharti kavita, writing poem, poetry in hindi,  best  poetry in hindi, popular poetry, hindi books, best hindi kavita, books on women love life, nayi kavita, नयी कविता, हिंदी कविता, 

0/Post a Comment/Comments

कृपया यहाँ कोई भी स्पैम लिंक कमेंट न करें

Previous Post Next Post