जब हम मिलेंगे - एक सच्ची प्रेम कहानी । Real life true love story । Emotional love story । Heart touching love story

जब हम मिलेंगे- एक सच्ची प्रेम कहानी, Jab hum milenge - Best romantic hindi true love story, true love story in hindi, true love story in hindi heart touching, super sad true love story in hindi, emotional love story in hindi, cute love stories in hindi, real life romantic love story in hindi, bold love stories in hindi, new love story hindi, untold love story in hindi, motivational love story in hindi, hindi love story in short, school love story in hindi, true love stories in real life in hindi


true love story in hindi, true love story in hindi heart touching, super sad true love story in hindi, emotional love story in hindi, cute love stories in hindi, real life romantic love story in hindi, bold love stories in hindi, new love story hindi, untold love story in hindi, motivational love story in hindi, hindi love story in short, school love story in hindi, true love stories in real life in hindi



जब हम मिलेंगे - सच्ची प्रेम कहानी : best romantic love story in hindi


यद्यपि मिलन, प्रेम का अंतिम पड़ाव है (किंतु ऐसा अंतिम नहीं, जो पुनः मिलने की ललक ना पैदा करे) चरम है,किंतु फिर भी मैं इस सोच में हूँ कि जिस दिन हम मिलेंगे उस दिन क्या होगा! क्या वो दिन अन्य दिनों से भिन्न होगा, अथवा समान ही रहेगा! फिर स्वयं ही मस्तिष्क इसका उत्तर भी दे दे रहा है कि निश्चित ही वह दिन सबसे अलग होगा, सबसे उत्तम होगा, सबसे अधिक शोभनीय होगा!

उस दिन सूर्य की चमक सबसे अधिक होगी, सबसे अधिक कांतिमय होगा! उतनी ही उसमे जलन भी होगी हमे एक साथ देखकर! उसका पीलापन तुम्हारे पीले वस्त्रों से मात खा जाएगा! 

यदि वो निशा हुई तो सबसे सुंदर और सबसे शीतल निशा होगी! उस रात का चंद्रमा अपनी हमशक्ल को मेरी पनाह में देखकर मंद मंद मुस्कुराएगा! वही आसमान से अपनी दूधिया रौशनी फैलाकर तुम्हारे चेहरे की दमक को बढ़ाता रहेगा, रात भर!

उस दिन हमारे आसपास की सम्पूर्ण प्रकृति अपने श्रृंगार के चरम पर होगी! उस दिन वृक्ष, लताएं, झाड़ियां सब तुम्हारी सुंदरता से अपनी तुलना करेंगे और हार जाने पर, जल भूनकर राख हो जाएंगे!

निश्चित रूप से, उस दिन तुमसे सुंदर कोई नहीं होगा, कुछ नहीं होगा!

उस दिन झींगुरों की शहनाई से लेकर, कोयल की कुक और मेंढकों की टर्र टर्र में भी एक संगीत छुपा रहेगा! दो बातें हो सकती हैं, या तो वृक्ष और लताओं की तरह वह भी हमदोनों से जले जले रहेंगे या फिर अगर उनमे ईर्ष्या न पनपी तब निश्चित रूप से हमदोनों के स्वागत में वे कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेंगे!


क्या पल होगा वो! क्या शमा होगी! और कितना अद्भुत होगा वह क्षण, जिस दिन अगल बगल में बैठे रहेंगे पीताम्बर और पीताम्बरी! और जिस पल मैं तुम्हारी गोद में एक बच्चे की तरह लेट जाऊंगा, बस वो समय, जैसे वही पर रुक जाएगा!

तुम जैसे ही चूमोगी मेरा माथा, मैं बस आंखें मूंद लूंगा और मेरे अवतरण के दिन मेरी मईया के प्रथम चुम्बन के बाद यह दूसरा सर्वश्रेष्ठ चुम्बन होगा मेरे लिए!

वही आस पास कही खिलें होंगे कुछ रातरानी के फूल और कुछ गुलाब भी, जो एक दूसरे की खुशबु से होड़ मचाए रहेंगे, हमे आनंदित करने के लिए!

वही कही पंछियों का एक जोड़ा आलिंगनबद्व होगा और उन्हें देखते हुए हम भी एक दूसरे को आलिंगनबद्व कर लेंगे, फिर फिर कही नहीं जाने के लिए, फिर कभी नहीं छोड़ने के लिए!

वो आलिंगन केवल आलिंगन मात्र नहीं होगा प्रिय! वह हमारी आत्माओं के आदान प्रदान का माध्यम भी होगा! उस आलिंगन के दौरान मेरा तुम्हारी और तुम्हारा मेरी आत्मा से वह संवाद स्थापित होगा, जो आगे हमारे प्रेम की दिशा और दशा तय करेगा!

उस दिन हम हमेशा के लिए एकाकार हो जाएंगे, ठीक वैसे ही जैसे भूलोक से मुक्त होकर कोई आत्मा जैसे हमेशा के लिए ईशतत्व में विलीन हो जाती है!कुछ ऐसा होगा वो दिन, जब हम मिलेंगे!

Previous Post Next Post